> ---> 5000 हजार रूपये में छपवायें सबसे सस्ता ई पुस्तक............ शोध-ऋतु अंतरराष्ट्रीय तिमाही शोध पत्रिका में विद्वानों,अतिथियों,शोधार्थियों का स्वागत हैं | >>>>>आलेख आमंत्रित हैं |>>>>>फॉण्ट- किसी भी फॉन्ट में भेजा जा सकता हैं - वर्ड फाइल में भेजें >>>> ईमेल shodhrityu78@yahoo.com>>>>> ९४०५३८४६७२

Issue-35 January-March,2024

https://doie.org/10.0121/shodritu.2024756124



Coming Soon 

For Issue 35 Volume - 5

last date submission- 15 March,24 

shodhrityu78@yahoo.com

====================================

 volume-4 Dwonload here

====================================

  1.  1.कानपुर देहात जनपद में समन्वित ग्रामीण विकास नियोजन-डॉ.चन्द्रप्रभा-6
  2.  2.दलित साहित्य की अवधारणा-प्रमोद पब्बर यादव-9 
  3.  3.विकास की त्रासदी में आदिवासी जन-जीवन : ‘मरंग गोडा नीलकण्ड हुए‘ के विशेष सन्दर्भ में-धन्या पी.जी.-11 
  4. 4.गांधीय चेतना के नाटककार विष्णु प्रभाकर -प्रो.(डा.)प्रतिभा राजहंस-13 
  5.  5. कबीर के काव्य में समन्वय की दृष्टी-प्रा.डॉ.पी.एम.भुमरे-17
  6. 6.मराठी ग्रामीण कादंबरीतील पर्यावरणीय संदर्भ-डॉ. शिवाजी आनंदराव सूर्यवंशी-20 
  7. 7.मध्यप्रदेश में नारी उत्पीड़न एवं राजनेताओं का दृष्टिकोण-1श्रीमती प्रीति गौर, 2डॉ.अनुपमा यादव-22
  8. 8.महिला अपराधियों का सामाजिक एवं भौगोलिक परिप्रेक्ष्य में अध्ययन -आनन्दनी पाण्डेय-25
  9. 9.प्रयोगधर्मी उपन्यास और धर्मवीर भारती-अमित कुमार आनंद -27 
  10. 10.नई शिक्षा नीति 2020 में शिक्षा के सार्वभौमिकरण में नामाकन एवं ठहराव की वर्तमान स्थिति का अध्ययन-1सपना पारीक, 2डॉ.यशवंती गौड-30 
  11. 11.वाल्मीकि रामायण : समकालीन मानव अधिकारों का विश्व कोष-1प्रो0अशोक कुमार राय-2डॉ0 सन्तोष कुमार-33
  12. 12.संत भक्ति कविता में मानव मूल्- राणा कुमार झा-37 
  13. 13.विवाहिता स्त्रियों का संघर्ष-शैल सुता कुमारी-40 
  14. 14.समाज व संस्कृति के निर्माण में हिंदी साहित्य का योगदान-नितिश कुमार-42 
  15. 15.हिन्दी दलित उपन्यासों में अभिव्यक्त सामाजिक चेतना-मोहम्मद असद-45 
  16. 16.बालकृष्ण शर्मा ‘नवीन’ के काव्य में नारी चेतना एवं संवेदना-1प्रोफेसर ममता गंगवार, 2नेहा गंगवार-47 
  17. 17.अर्थशास्त्र में स्त्री विमर्श-डॉ.विनी शर्मा-50 
  18. 18.समकालीन महिला लेखन की प्रासंगिकता मृदुला गर्ग के विशेष संदर्भ में-डॉ.उषा शर्मा-52 
  19. 19.सामाजिक समरसता और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ -शेषांक चौधरी-55 
  20. 20.जयशंकर प्रसाद के नाटकों में स्त्री चरित्र का चित्रण-1राजन कार्तिकाय, 2प्रो0(डॉ0) श्रीकांत सिंह-57 
  21.  21.उषाकिरण खान के कहानी एवं उपन्यासों में सामाजिकता-प्रिया कुमारी-59 
  22.  22.राजस्थान के समकालीन कथाकार : सामाजिक विसंगतियों पर प्रहार -डॉ.बाबूलाल बैरवा-61 
  23.  23.अंतिम दशक के दलित कथा साहित्य में वैचारिक संघर्ष-सी.एच.स्रवंति-64 
  24. 24.राष्ट्रीय आंदोलन की दृष्टि से प्रेमचंद के किसान और आज के किसानों की समस्या, रोजगार और आय1रजत सिंह, 2डॉ.अमृता अध्यापन-66 
  25. 25.पूंजीवादी दुष्चक्र में स्त्री-मनोज कुमार यादव-68 
  26.  26.संस्कृतसाहित्ये मानवीयमूल्यबोध:-डा. देबज्योति जेना-71
  27. 27.पाण्डेय बेचन शर्मा उग्र के उपन्यास ‘फागुन के दिन चार‘ में व्याप्त सामाजिक विद्रुपताएं-हिमांचल-73 
  28. 28.प्रेमचंद की पत्रकारिता में गांधी जी की उपस्थिति-1डॉ.अमृता, 2रजत सिंह-77
  29. 1.Interpreting French Revolution Through Ideas: The Role Of Enlightenment-Dr. R.K Rajouria-79 
  30. 2.The Imprints Of Gandhian Thoughts In The Writings Of Premchand-Dr. Soumya C. S-82 
  31. 1.പുരാണങ്ങളുടെ സ്വാധീനം വള്ളത്തോൾ കവിതയിൽ-Dr.Merin Joy-85




====================================

Volume-3 Download Here

====================================

  1. 1.ग्रामीण अंतरंग टिपणाऱ्या अनुभवसमृद्ध पारावरच्या कथा-डॉ.मंगेश बनसोड-6 
  2. 2.रिश्तों की घटती गरिमा और बढ़ता पारिवारिक विघटन-1कृष्ण कुमार सिंह, 2डॉ0 हरिओम त्रिपाठी-8 
  3. 3.उतना सफ़र आसान रहेगा-ध्रुव कुमार-10 
  4. 4.नयी सदी के हिंदी उपन्यासों में चित्रित जीवन मूल्य-बोनोड पांडुरंग पोषट्टी-12 
  5. 5.हिंदी उपन्यासों में अभिव्यक्त आदिवासी संस्कृति-डॉ.गेडाम प्रवीण-14 
  6. 6.जी-20 एक विश्लेषण-डॉ0कुमुद श्रीवास्तव-16 
  7. 7.स्वतंत्रता संग्राम और भारतेंदु के नाटक-चिप्पी एम.आर.-19 
  8. 8.भारत-चीन के रणनीतिक संबंधों का एशिया पर प्रभाव-1डा0राहुल कुमार, 2गजेन्द्र सिंह-22 
  9. 9.आधुनिक परिप्रेक्ष्य में महर्षि दयानन्द की सामाजिक विचारधारा-डॉ0सरोज बाला-24
  10. 10.प्रारंभिक हिन्दी की विशिष्ट कहानियाँ (सन् 1900-1915 ई.)-अमित सोरेंग-26 
  11. 11.बिहारी की भाषा सौष्ठव- डॉ.डी.विद्याधर-29 
  12. 12.इक्कीसवीं सदी के हिंदी उपन्यासों में चित्रित राजनीतिक परिवेश-एम.भीमराव-32 
  13. 13.आईना साज़-अनामिका-चेतन विष्णु रवेलिया-34 
  14. 14.खूब लड़ी मर्दानी-झांसी की रानी -डा0 पूजा शर्मा-37 
  15. 15.वारकरी संप्रदायाचे साहित्य आणि समाज -डॉ.गणेश लहाने-39 
  16. 16.मंगलेश डबराल की कविताओं में अभिव्यक्त र्प्रेम के नए स्वर-काम्या भारद्वाज-42 
  17. 17.बाराबंकी जनपद के कृषि पर जलवायु परिवर्तन का प्रभाव: एक भौगोलिक विश्लेषण-1प्रमोद कुमार 2प्रोफेसर साधना रानी-44 
  18. 18.नक्सलवाद : भारत की आंतरिक सुरक्षा के समक्ष चुनौती-डॉ.राहुल कुमार-47 
  19. 19.सामाजिक समरसता की प्रतीक ‘रामचरितमानस‘-डॉ0उदारता -50 
  20. 20.भारत-भारती में निहित सामाजिक और सांस्कृतिक चेतना-कामिनी देवी-52 
  21. 21.प्रकृति के साथ कुछ पल : साक्षात्कार-जिष्णा राघव-53 
  22. 22.मानवतावादी मूल्य एवं 21वीं सदी के दूसरे दशक की कहानियाँ-रीमा देवी-56 
  23. 23.किन्नर जीवन में सामाजिक प्रतिरोध, यातना एवं संघर्ष की गाथा: देह कुठरिया-डॉ.शेषनाथ यादव-58 
  24. 24.संविधान सभेतील फुलेवादाचा प्रवक्ता-डॉ.पंजाबराव देशमुख-विशाल रावसाहेब पतंगे-63 
  25. 25.हिंदी आलोचना और आचार्य हज़ारी प्रसाद द्विवेदी -मीनू कुमारी-67 
  26. 26.निर्मल वर्मा के निबंधों में ‘भारतीय और पाश्चत्य दृष्टियों का द्वंद्व‘-उत्कर्ष पाण्डेय-70 
  27. 1.Liberalization and Sectoral Growth of FDI in India-Dr. Vidushi Tyagi-73 
  28. 2.Artificial Intelligence In Sports -Dr. Dhananjay kumar-76
  29. 3.A study of causes and factors responsible for Napoo Water Bodies in district East of Delhi-1Dr. Pawan Kumar,2Raghav Acharya-77 
  30. 4.Access and Retention of Transgender Children in School Education: Issues and Challenges- Role of NGOs-1Dr. Pawan Kumar,2Raghav Acharya-80

====================================

Download volume-2

================================================================

  1. 1.आधुनिक हिन्दी, दलित विमर्श व नवजागरण-डॉ.मूलचन्द्र पाल-6
  2. 2.हिंदी कथा-साहित्य में अभिव्यक्त दिव्यांग जीवन-1विनीत कुमार अवस्थी, 2डॉ.सुमन सिंह-9
  3. 3.भगत सिंह-स्वाधीनता के सपूत-डॉ.दुर्गेश कुमार शर्मा-11
  4. 4.भारतीय राष्ट्रवादाबाबत भारतीय विचारवंतांचे योगदान : एक अभ्यास-प्रा.डॉ.इकबाल खान गफार खान-14
  5. 5.साहित्य,सिनेमा और समाज का अंत : संबंध-डॉ. गुलाब राठोड-16
  6. 6.वृद्ध जीवन में उतरती हिन्दी समकालीन कविता-प्रीतिका एन.-18
  7. 7.नासिरा शर्मा के कथा संसार में बदलते समय की नारी का स्वरूप-साधना-21
  8. 8.नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति, 2020 के प्रमुख प्रावधान-1कुलदीप सिंह, 2तारीफ सिंह यादव-24
  9. 9.नैसर्गिक साधन संपत्ति में मनुष्य का बढ़ता हुआ हस्तक्षेप-प्रा. डॉ. मधुकर बाबुराव राठोड-26
  10. 10.गुरू जाम्भोजी अर जाम्भाणी साहित्य में पर्यावरण चेतना-विष्णु शंकर-28
  11. 11.सूर्यकान्त त्रिपाठी निराला के साहित्य में मानवतावाद-प्रो. ममता गंगवार-30
  12. 12.झारखण्ड के प्रमुख आलोचकों की कथा आलोचना-शीला कुमारी-32
  13. 13.ग्रामीण महिलाओं एवं बच्चों के निमित्त पोषण एवं स्वास्थ्य कार्यक्रम-1डॉ0 कुमारी रुपम, 2नूतन कुमारी-35
  14. 14.माध्यमिक स्तर के छात्रों पर संज्ञानात्मक क्षमता का प्रभाव-1ज्योति, 2प्रोफे.लाजवंती-37
  15. 15.सूर्यबाला की कहानियों में नारी संवेदना-कोतवाल मजहर मकबूल-40
  16. 16.शिक्षा में सृजनात्मकता की वर्तमान उपयोगिता-ज्योति-42
  17. 17.डॉ.‘निशंक‘ के उपन्यास में स्त्रीवादी दृष्टिकोण-1खेमलता गोस्वामी, 2 डॉ.निधि वर्मा-45
  18. 18.समाजशास्त्री के रूप में डॉ. भीमराव अंबेडकर : एक विश्लेषण- कौशलेंद्र कुमार-46
  19. 19.जनसंचार के विविध माध्यमों में हिंदी का बढ़ता प्रभाव-के. सुधाकर-49
  20. 20.पंचायती राज में महिला नेतृत्व : चुनौतियाँ एवं संभावनाएँ-दीपक कुमार यादव-51
  21. 21.राजभाषा हिंदी के प्रबंधन में तकनीकी एवं प्रौद्योगिकी की भूमिका-1विनीत कुमार वर्मा, 2डॉ0राजेश कुमार तिवारी-54
  22. 22.झाडीपट्टी रंगभूमी : सामाजिक आणि सांस्कृतिक परिप्रेक्ष्य-डॉ.मंगेश बनसोड-58
  23. 1.Women in Trousers and Tales of Resistance in Dar es Salaam: An  Overview-Dr. Chukwuemeka Nwigwe,Nigeria -59
  24. 2.Assessment Of River Bed Sand Excavation And Mining In Catchment Of Jaisamand Lake Of Udaipur- Mr. Rajesh Kumar-62
  25. 3.Enhancing Sustainability in Education through Knowledge RetentionInstructional Strategies (KRIS)-1Jaya Satsangi, 2D. Vasanta-64
  26. 4.Contributions Of Tribal Women In Nation Building-Dr. Archana Choudhary-67
  27. 5.Business Analytics Approach to Artificial Intelligence-1Dr. Ritu Aggrawal, 2Dr. Deepshikha Kalra -70
  28. 6.Education -The Spur Of Rural Development: A Socio-Legal Discourse-Dr. Manoj Kumar Gupta-74
  29. 7.An Overview on Copy Right IN Digital world-Dr. Ajeet Singh-77
  30. 8.Amitav Ghosh’s Circle of Reason as a kaleidoscope of characters and human nature-Dr.Sofia Nalwaya-80

=========================================================================

Download Volume-1

=========================================================================

  1. 1.रामधारी सिंह दिनकर के  ‘कुरूक्षेत्र‘ में प्रगतिवाद-डॉ.राजू.सी.पी.-6
  2. 2.एन०ई०पी०-2020 के विशेष सन्दर्भ में विधि शब्दावली की भूमिका-1प्रो० अशोक कुमार राय, 2डॉ0सन्तोष कुमार-8
  3. 3.गद्दी जनजातीय परम्परा में कृष्ण का स्वरूप : एक अनुशीलन-डॉ. भरत सिंह-11
  4. 4.रामराज्य में विधि के शासन की अवधारणा-1प्रो० अशोक कुमार राय, 2डॉ0 सन्तोष कुमार-13
  5. 5.कृषि क्षेत्र में अभिनव अनुसंधान एवम् निर्माण-विजय पाटील-16
  6. 6.कथाकार अखिलेश की कहानियो में व्यक्त बाजारवाद के सार्थक प्रतिरोध का विवेचन- डॉ.नन्दकिशोर चौधरी-18
  7. 7.अनुसूचित जाति और जनजाति के उत्थान में डॉ.भीमराव अम्बेडकर का योगदान-ज्ञान चन्द-20
  8. 8.समकालीन कहानियों में दलित विमर्श की अवधारणा-शिवम गिरि                -23
  9. 9.विकलांग छात्रों के लिए समावेशी शिक्षा की प्रभावशीलता की जाँच-डॉ.अनुपम अग्रवाल-25
  10. 10.रविदास/रैदास के बेगमपुरा की परिकल्पना-शाम्भवी त्रिपाठी-27
  11. 11.पारिजात एक सामाजिक सांस्कृतिक यथार्थ-दीपक सिंह-30
  12. 12.जनपद बहराइच में थारू जनजातियों की आर्थिक, सामाजिक और सांस्कृतिक प्रत्यावर्तन एक समाजशास्त्रीय अध्ययन -1प्रो0 (डॉ0)सूर्य भान रावत, 2धीरेन्द्र प्रताप-32
  13. 13.युगीन लंबी कहानी : प्रवृत्तियाँ एवं तत्त्व-डॉ.राजश्री पी.मोरे-35
  14. 14.मृदुला सिन्हा की कृति ”औरत अविकसित पुरुष नहीं है” में स्त्री शोषण एवं संघर्ष का यथार्थ”-कल्पना-38
  15. 15.स्वातन्त्र्योत्तर हिन्दी राम काव्यों में जीवन मूल्य एवं युगदर्शन ;1950.1980 तक के प्रबंध काव्यद्ध-ज्योति शर्मा-41
  16. 16.रामचरितमानसदिशा गुरु:-डा.शुभ चन्द्र झा-44
  17. 17.पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी का आर्थिक चिंतन -अंजना ठाकुर-46
  18. 18.इंटरनेट सर्फिंग के परिप्रेक्ष्य में विद्यार्थियों की सृजनात्मकता का अध्ययन-डॉ.अंजना रानी उपाध्याय-49
  19. 19.सरकारी अभियोजकों द्वारा ग्रामीण महिलाओं हेतु चलाए जा रहे परिवार नियोजन संबंधी कार्यक्रमों के सामाजिक प्रभाओं का समाजशास्त्रीय अध्ययन-मधु-52
  20. 20.नेपाल- केन्द्रित भारत व चीन की सामरिक-आर्थिक सम्बन्ध : एक मूल्याकंन-1उमेश कुमार तिवारी, 2प्रो0(डॉ0) अरविन्द कुमार चतुर्वेदी-56
  21. 21.स्वायत्तता महाविद्यालय ; (Autonomy Collage)में अध्ययन करने वाले अनुसूचित जनजाति छात्रों की शैक्षिक स्थिति का अध्ययन-1डॉ.मीनू जैन, 2गौरव धाकड़,-59
  22. 22.‘विनोद कुमार शुक्ल के काव्य में आदिवासी जीवन‘-1नीतू यादव, 2डा.लक्ष्मण प्रसाद गुप्ता-62
  23. 23.“द गाइड“ उपन्यास  में पाली  गाइड  राजू-मोनिका   कोतवाल-66
  24. 24.श्रीशंकराचार्यस्यअद्वैतदर्शनम् : समीक्षात्मकंविश्लेषणम्-डॉ.सुजाता राघवन-68
  25. 25.वाल्मीकीय रामायण में राक्षसकुल की स्त्रियाँ : एक सामाजिक अनुशीलन-डॉ0सन्नो देवी-71
  26. 26.नैतिक मूल्यों की मृत्यु कथा : इमारत गिराने वाले-दीपक कुमार सेठिया-74
  27. 27.नवोदित रंगकर्मींचा वाटाड्या ‘नाट्यांग मीमांसा‘! -डॉ. मंगेश बनसोड-75
  28. 1.On the emotional expression of tone in oil painting- Berhane Tsegeyohannes Gebremchale-77
  29. 2.Rise and Development of Philosophy of Justice-Nyaya-K. Purushottamacharyulu-80
  30. 3.Two-Year Teacher Education Programme: Strengths & Weaknesses-1Dr. Priyanka Mittal, 2Dr.Abdul Sameer Khan-83
  31. 4.Interdisciplinary Insights: Exploring the Scope, Goals, and Relationships of Social Psychology with Other Disciplines-1Dr. Sanjay Maheshwari, 2Dr. Sheetal Jha-85


Comments