> ---> 5000 हजार रूपये में छपवायें सबसे सस्ता ई पुस्तक............ शोध-ऋतु अंतरराष्ट्रीय तिमाही शोध पत्रिका में विद्वानों,अतिथियों,शोधार्थियों का स्वागत हैं | >>>>>आलेख आमंत्रित हैं |>>>>>फॉण्ट- किसी भी फॉन्ट में भेजा जा सकता हैं - वर्ड फाइल में भेजें >>>> ईमेल shodhrityu78@yahoo.com>>>>> ९४०५३८४६७२

नमस्कार !

                                फोटो १- इन्डोनिशिया बाली  में पुस्तक विमोचन 
     फोटो २-प्रो.उपुल रंजित,श्रीलंका,  प्रो.रामप्रसाद भट, जर्मनी,  प्रो.अनुष्का, श्रीलंका 

नमस्कार !  "शोध-ऋतु" अंतर्राष्ट्रीय शोध पत्रिका में आपका स्वागत हैं | मनुष्य को भविष्य में प्रत्येक क्षेत्र में प्रगति एवं विकास के लिए शोध की आवश्यकता पड़ती हैं | वह अपने जन्म काल से लेकर आजतक विभिन्न क्षेत्रों में शोध करता आया हैं और करता रहेगा | शोध करना उसकी आवश्यकता बन गयी हैं | शोध के कारण ही मनुष्य आज ब्रह्माण्ड नाप रहा हैं | शोध मनुष्य के जीवित होने का प्रमाण हैं | यदि वह शोध नहीं करेगा तो स्थिर हो जायेगा | मनुष्य स्थिर प्राणी नहीं हैं | वह प्रगतिशील एवं संवेदनशील प्राणी हैं | यही कारण हैं कि वह अपने सर्वांगीण विकास एवं प्रगति के लिए शोध करता रहता हैं |

             शिक्षा, संस्कृति, साहित्य, समाज का निकट का सम्बन्ध हैं | आज शिक्षा के क्षेत्र में विभिन्न विषयों पर शोध कार्य हो रहे हैं | जो आनेवाली पीढ़ी के सम्मुख उपस्थित होनेवाली संकल्पनाओं को स्पष्ट करता जाता हैं | ऐसे ही शोध कार्य करनेवाले शोधार्थियों के लिए "शोध-ऋतु" मंच प्रदान कर रहा हैं | जो भविष्य में सन्दर्भ एवं मार्गदर्शक सिद्ध होगा | इसीलिए शोध-ऋतु पत्रिका शोध छात्रों एवं अध्यापकों की पहली पसंद बनते जा रही हैं |  
         आपके आलेख नियम एवं शर्तो के अनुसार ईमेल या सीडी द्वारा भेजें |आंतरराष्ट्रीय संशोधन पत्रिका शोध-ऋतु के अब प्रकाशित होनेवाले अंक के लिये मराठी, हिंदी तथा अंग्रेजी भाषा में लिखित सभी विषय के शोध आलेख आमंत्रित किये जा रहे है
    अपना आलेख किसी भी विषय में shodhrityu78@yahoo.com पर भेजें | विषयतज्ञों द्वारा चयनित शोध आलेख ही पत्रिका में छपने योग्य होंगे | चयनित आलेख लेखक प्रकाशन प्रक्रिया शुल्क जमा कर अपनी पत्रिका प्राप्त कर सकते हैं | आलेख पेज मर्यादा तीन पेज होगी | मौलिक एवं स्तरीय आलेख ही स्वीकृत किये जायेंगे |पत्रिका प्राप्त करने हेतु पिनकोड के साथ अपना पूरा पता भेजें |शोध-ऋतु की अधिक जानकारी के लिए हमारे संकेत स्थल www.shodhritu.com पर भेंट दें एवं पुराने अंक  निशुल्क पढ़े |